राष्ट्रीय कवि संगम न्यूज़


राष्ट्रीय कवि संगम अखिल भारतीय द्वितीय कार्यकारिणी बैठक
नई दिल्ली। राष्ट्रीय कवि संगम की द्वितीय राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक रोहिणी स्थित स्वरुचि होटल में हुई।संस्था के संस्थापक सदस्य अरुण गोयल, प्रख्यात कवि बलबीर सिंह करुण,नरेश नाज़ व जाने-माने समाजसेवी श्याम सुन्दर अग्रवाल जी के सानिध्य में देर शाम तक चली इस बैठक की अध्यक्षता संस्था के राष्ट्रीय संयोजक जगदीश मित्तल ने की। बैठक में देश के 17 राज्यों से पधारे दर्जनों पदाधिकारियों सहित लगभग 45 कवियों ने भाग लिया। कार्यक्रम का संचालन संस्था के महामंत्री राजेश चेतन ने किया। बैठक के विभिन्न सत्रों में जहां संस्था के राष्ट्रीय महामंत्री अशोक बतरा ने कवि संगम की स्थापना, गतिविधियों और उपलब्धियों की विस्तृत जानकारी दी वहीं विभिन्न राज्यों के प्रतिनिधियों ने उक्त जानकारी देने के अलावा कुछ उपयोगी सुझाव भी दिए। बैठक के दौरान संस्था के संस्थापक इन्द्रेश ने मोबाईल फोन के माध्यम से दिए अपने संदेश में उपस्थित कलमवीरों को उनके राष्ट्रधर्म की याद दिलाते हुए राष्ट्रवादी शक्तियों को संगठित कर भारत को पुनः विश्वगुरू के पद पर आसीन करने का आह्वान किया।अपने अध्यक्षीय संबोधन में श्री जगदीश मित्तल ने संस्था की वर्तमान प्रगति पर संतोष जताते हुए इस विकास यात्रा में सहयोगी रहे महानुभावों का आभार जताने के अलावा भविष्य की प्रसार योजना संबंधी आवश्यक दिशा निर्देश भी दिए।

राष्ट्रीय कवि संगम का नवम् दस्तक युवा कवि सम्मेलन समपन्न
‘राष्ट्र जागरण धर्म हमारा’ उद्देश्य को समर्पित राष्ट्रीय कवि संगम गत 9 वर्षों से सारे देश में कार्यरत है। राजधानी दिल्ली मे युवाओं का विशाल कवि सम्मेलन ‘नवम् दस्तक: नई पीढी की’ का आयोजन किया गया। जिसमे देश के 10 युवा कवियों, छत्तीसगढ़ राजनंदगांव के मनोज शुक्ला, आशीष सोनी जबलपुर, पुष्पेन्द्र जोशी उज्जैन, दिनेश गुप्ता पटियाला, मेघश्याम राजस्थान, निकुंज शर्मा ब्रजघाट, अनामिका वालिया अंबाला, भूमिका जैन आगरा, युनूस सिद्दिकी और अरविंद चंद्रवंशी दिल्ली, ने काव्यपाठ किया। सभी कवियों ने अपनी भावपूर्ण प्रस्तुति से श्रोताओं के मन पर दस्तक देते हुए भरपूर तालियां बटोरी। संस्था के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगदीश मित्तल के जन्मदिवस पर उन्हीं के सानिध्य में संपन्न हुए इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रहे देश के आचार्य कवि व म.प्र. के पूर्व मंत्री सत्यनारायण सत्तन ने अपने पे्ररक व गरिमापूर्ण उद्बोधन से नवोदित कवियों का मार्गदर्शन तो किया ही, मंचीय कवियों में बढ़ रही व्यावसायिक प्रतिद्वंद्विता के चलते उत्पन्न हुई अमर्यादित परम्पराओं से निजात पाने का भी आह्वान किया। कार्यक्रम का शुभारंभ माँ सरस्वती के सम्मुख दीप प्रज्जवलन एवं पुष्प समर्पित कर किया गया। इस अवसर पर रमेश अग्रवाल चेयरमैन अग्रवाल पैकर्स मूवर्स ने कहा केवल मनोरंजन ही कवियों का कर्म नही होना चाहिए, उसमे उचित उपदेश भी होना चाहिए। डॉ नंद किशोर गर्ग, चान्सलर, महाराजा अग्रसेन युनिवर्सिटी, ने राष्ट्रीय कवि संगम को काव्य के क्षेत्र में नया कीर्तिमान रचने के लिए शुभकामनाएं दी। कार्यक्रम पर संस्था के ट्रस्टी चतुर्भुज अग्रवाल (चेयरमैन, वंदना ग्रुप, रायपुर) अमृत लाल सिंगला (चेयरमैन, मैपस्को बिल्डर्स) श्रीमती निर्मला एवं एस.एस. अग्रवाल (कॉनटिनेन्टल ग्रुप), सुरेश गुप्ता गोल्डन ( प्रमुख समाज सेवी), महावीर प्रसाद टांटिया, रोशन कंसल, रसिक गुप्ता, सुदीप भोला, नरेश नाज़, अजय बंसल विशेष रूप से उपस्थित थे। इस काव्योत्सव का मंच संचालन संस्था के राष्ट्रीय महामंत्री राजेश चेतन एवं जगदीश मित्तल काव्य पुरस्कार प्राप्त युवा कवि सुमित मिश्रा ओरछा ने किया। इस अवसर पर नवचयनित आइ.ए.एस. दस्तक-4 के युवा कवि निशांत जैन का भी सम्मान किया गया।

amazon
android
bitly
blogger
dnn
drupal
ebay
facebook
google
ibm
ios
joomla
linkedin
amazon
android
bitly
blogger
dnn
drupal
ebay
facebook
google
ibm
ios
joomla
linkedin